मन और आत्मा (soul) एक ही पदार्थ के दो रूप है

विश्व के सभी धर्मों में किसी न किसी रूप में उस परम सत्ता को स्वीकार किया है। यह परम सत्ता सर्वव्यापक और निराकार है जिसे हम परमात्मा की संज्ञा देते है। आत्मा (soul) इसी परम तत्व या परम…

मृत्यु के समय की स्थिति : At the time of death

प्राकृतिक मृत्यु (death) का आभास मनुष्य को पहले ही लग जाता है। आभास लगते ही उसके मानस पर जीवन की वे तमाम घटनाये सजीव होने लगती है जिनका जीवन में भारी मूल्य रहा। सारे पाप-पुण्य, अच्छाई-बुराई स्मृति में…

आत्मा का अस्तित्व इंकारा नहीं जा सकता – existence of soul

भारतीय तथा विश्व के अन्य सभी धर्मो में पुनर्जन्म की मान्यता है की मरणोत्तर जीवन कितना लंबा होता है और उस अवधि में किस प्रकार निर्वाह करना पड़ता है | मतभेद इन्हीं बातों पर है | पुनर्जन्म को…